Monthly Archives: January 2014

Thinking 2013…

Dear Friends I really should finish writing this piece before thinking about the last year, and greeting the new, becomes totally redundant. Somehow the transition to the new year becomes truly real by now – the (few) greeting cards start … Continue reading

Posted in Migration Musings | 1 Comment

मेहनत की कमाई, क्षण में डुबाई

खातुराम अहमदाबाद शहर में पिछले पांच वर्षों से मार्बल व टाईल फिटिंग का कार्य करता है। सभी श्रमिकों की भाति दीपावली त्यौहार मनाने के लिए गांव जाने के लिए वह भी उत्सुक था। उसने शहर के सरखेज क्षेत्र की साईट … Continue reading

Posted in Listening to Grasshoppers | Leave a comment